देश कांग्रेस के जहर की कीमत चुका रहा है: मोदी


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बुधवार को लोकसभा में विपक्ष की नारेबाजी के बीच बेहद तेज-तर्रार शैली और आक्रामक तरीके से कांग्रेस पर जम कर हमला बोला उन्होंने कांग्रेस पर देश के विभाजन का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, 'आपके चरित्र में है बांटना। देश के टुकड़े किए और जो जहर बोया, आज आजादी के 70 साल बाद भी आपके उस पाप की सजा सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानी भुगत रहे हैं।' 

आंध्र प्रदेश की सहयोगी टीडीपी के नाराज होने की खबरों के बीच पीएम मोदी ने इमोशनल कार्ड खेलते हुए कहा, 'कांग्रेस ने चुनाव को ध्यान में रखकर संसद के दरवाजे बंद करके आंध्र प्रदेश के लोगों की भावनाओं की परवाह किए बिना तेलंगाना बनाया। आज 4 साल बाद भी समस्याएं सुलगती रहती हैं। ये इस प्रकार की चीजें आपको शोभा नहीं देती। आपके प्रधानमंत्री श्रीमान राजीव गांधी ने हैदराबाद में चुने हुए लोकप्रिय दलित मुख्यमंत्री का अपमान किया।' 

पीएम ने नाराज सहयोगी टीडीपी को खुश करने की भी कोशिश की। उन्होंने कहा, 'श्रीमान राजीव जी ने खुलेआम दलित मुख्यमंत्री को अपमानित किया था। ये तेलगुदेशम पार्टी, ये एनटी रामाराव उस अपमान की आग में से पैदा हुए थे। रामाराव को उस अपमान का बदला लेने के लिए अपना फिल्म करियर छोड़कर राजनीति में आना पड़ा था। इस देश में 90 से अधिक बार अनुच्छेद 356 का दुरुपयोग करते हुए राज्यों में उभरती पार्टियों को फेंक दिया गया। आपने पंजाब में अकालियों के साथ क्या किया?' 

मोदी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कहा, 'खड़गे जी का भाषण सुन रहा था। समझ नहीं पा रहा था कि वह कर्नाटक के लोगों को संबोधित कर रहे थे कि अपने ही दल के नीति निर्धारकों को खुश करने का प्रयास कर रहे थे। उन्होंने बशीर बद्र की शायरी से शुरू किया। मैं आशा करता हूं कि उन्होंने जो शायरी सुनाई कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने भी सुनी होगी।' 

पीएम ने कहा, खड़गे जी ने बशीर बद्र की शायरी सुनाई 'दुश्मनी जमकर करो, लेकिन यह गुंजाइश रहे, जब कभी हम दोस्त हो जाएं तो शर्मिंदा न हों।' मोदी ने इसके बाद कहा कि बशीर बद्र की शायरी का जिक्र किया तो अच्छा होता कि उसके पहले वाली राय को भी याद कर लेते तो देश को पता चलता कि आप कहां खड़ें हैं। उसी शायरी बशीर बद्र ने कहा था, 'जी चाहता है कि सच बोलें क्या करें हौसला नहीं होता।' 

पीएम मोदी ने 'तानाशाही नहीं चलेगी', 'झूठा भाषण बंद करो' जैसे नारों के बीच दमदार तरीके से अपनी बातें रखीं। उन्होंने कहा, 'सुनने की हिम्मत चाहिए मेरी आवाज दबाने के लिए इतनी कोशिश नाकाफी है। पिछली सरकार में 11 किमी. नैशनल हाइवे बनते थे आज 22 किलोमीटर बन रही। हमारी सरकार के 3 साल में 1 लाख 20 किमी. सड़कें बनीं। 2011 से 2014 तक सिर्फ 59 पंचायतों में ऑप्टिकल फाइबर पहुंचाए। हमने आने के बाद इतने कम समय में 1 लाख से अधिक पंचायतों में 1 लाख से अधिक पंचायतों में ऑप्टिकल फाइबर पहुंचाए।  कांग्रेस और नेहरू-गांधी परिवार पर जमकर जुबानी तंज चलाए। उन्होंने बिना नाम लिए जहां कांग्रेस के परिवारवाद पर ताना मारा, वहीं सहयोगी दलों का गुणगान कर उन्हें भी साधने की कोशिश की। पीएम ने अपने भाषण में आंध्र प्रदेश और कर्नाटक का जिक्र कई बार किया। कभी शायरी तो कभी तंज से पीएम ने कांग्रेस के हर आरोप को अपने भाषण में जुबानी पंच से बेदम कर दिया।


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc