महाराष्ट्र में करणी सेना दो फाड़, एक गुट समर्थन में उतरा




फिल्म पद्मावत पर करणी सेना दो फाड़ हो गई है. करणी सेना का एक पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, सेना की महाराष्ट्र इकाई ने जारी किया है, में बताया गया है कि विरोध वापस ले लिया गया है. पत्र में बताया गया है कि करणी सेना ने फिल्म देख ली है और इसमें कुछ भी गलत नहीं है, बल्कि इसमें राजपूतों की वीरता और त्याग को दिखाया गया है. पत्र में डायरेक्टर संजय लीला भंसाली की मदद का भी भरोसा दिलाया गया है. 

वायरल पत्र करणी सेना के डुप्लीकेट गुट ने दिया है. हम आज भी फिल्म का विरोध कर रहे हैं -सेना प्रमुख लोकेंद्र सिंह कालवी
दूसरी ओर करणी सेना के प्रमुख लोकेंद्र सिंह कालवी ने फिल्म का विरोध वापस लिए जाने संबंधी वायरल हो रहे पत्र को फर्जी बताया है. उनका कहना है कि न तो अभी सेना ने फिल्म देखी है और न ही विरोध वापिस लिया गया है. यही बात सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेडी ने कही है, जिनका हवाला पत्र में दिया गया है कि  सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेडी के कहने पर पर कुछ लोगों ने मुंबई में फिल्म देखी और पाया कि फिल्म राजपूतों की वीरता दिखाती है. श्री कालवी का कहना है कि यह उनकी करणी सेना नहीं है. वायरल पत्र करणी सेना के डुप्लीकेट गुट ने दिया है. हम आज भी फिल्म का विरोध कर रहे हैं और इसे लेकर केंद्र सरकार से संपर्क में हैं.

पत्र सेना के (महाराष्‍ट्र विंग) के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष योगेन्‍द्र सिंह कटारा ने जारी कर विरोध वापस लेने का एलान किया है. पत्र में लिखा है, "सेना ने जिन राज्यों में फिल्म को रिलीज नहीं होने दिया, अब वहां वो खुद इसकी रिलीज में मदद करेगी. यह भी कहा गया है कि फिल्म देखने के बाद हर राजपूत गर्व महसूस करेगा.


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc