17 का पहाड़ा नहीं पढ़ सके अतिथि शिक्षक, कलेक्टर ने कहा 'नमूनों को आज ही पद से पृथक करो'


''जब किसी भी अधिकारी को पहले से नहीं बताकर कलेक्टर अनुराग चौधरी द्वारा औचक निरीक्षण किया गया तो भयंकर स्थिति सामने आई. कलेक्टर के सिंगरौली एवं माड़ा तहसील क्षेत्रान्तर्गत प्रात: 10:30 बजे किये गए औचक निरीक्षण में कई आंगनबाडी केन्द्र बंद मिले कुछ केन्द्रों में एक भी बच्चा नहीं मिला। स्कूलों की बात करें तो बच्चे स्कूल छोड़कर तालाब जा रहे थे और शिक्षक 17 का पहाडा नहीं सुना पा रहे थे अभी तक कलेक्टर या अन्य किसी बड़े अधिकारी के भ्रमण की जानकारी पूर्व से अधीनस्थ अधिकारियों को बता दी जाती थी या हो जाया करती थी, और वह स्थिति संभाल लेते थे।''

सिंगरोली कलेक्टर श्री चौधरी के द्वारा कलेक्ट्रेट पहुंचते ही 10:00 बजे अधिकारियों को तलब किया गया किन्तु यह जानकारी किसी को नहीं दी गई कि भ्रमण किस क्षेत्र में किया जाना है कलेक्टर के द्वारा सर्व प्रथम आगनवाड़ी केन्द्र बनौली, पहुचकर केन्द्र में मात्र 4 बच्चे मिले कार्यकर्ता निर्मला पटेल को पद से पृथक एवं सहायिका मीरादेवी साह को अवैतनिक करने का निर्देश दिए।

वही सीतुल खुर्द क्रमांक-1 की आगनवाड़ी कार्यकर्ता सनीता सिंह को पद से पृथक सहायिका को अवैतनिक तथा आंगनवाड़ी केन्द्र क्रमांक-1 रजमिलान कार्यकर्ता श्रीमती बुधराज साह को पद से पृथक तथा सहायिका मुजू साकेत को अवैतानिक, आगनवाड़ी केन्द्र रंम्पा कार्यकर्ता पुष्पा साह को पद से पृथक तथा सहायिका श्रीमती यादव को अवैतनिक एवं आगनवाड़ी केन्द्र कोयल खूथ की कार्यकर्ता गीतारानी सिंह को पद से पृथक तथा सहायिका कैलाशू को अवैतनिक करने का निर्देश दिया गया।

कलेक्टर यह देख कर दंग रह गए कि एक केन्द्र में मात्र 4 बच्चे मिले तथा कई केन्द्र बंद मिले कुछ केन्द्रों में एक भी बच्चा नही मिला। कलेक्टर के द्वारा नाराजगी व्यक्त करते हुए इन केन्द्रों की ऑगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को तत्काल पद से पृथक करने का निर्देश देते हुए यह भी निर्देश दिए कि इन क्षेत्रों की  सुपरवाईजर प्रियंका आर्मो, एवं श्यामवती सिंह को कारण बताओं नोटिस जारी कर कठोर कार्यवाही करने का निर्देश दिए।

नहीं पढ़ सके अतिथि शिक्षक 17 का पहाड़ा
कलेक्टर के द्वारा अपने भ्रमण के दौरान प्राथमिक पाठशाला एवं पूर्व माध्यमिक शालाओं का निरीक्षण किया गया, जिसके तहत प्राथमिक पाठशाला असनी में पदस्थ अतिथि शिक्षक अजय कुमार साह, राहुल देव गोस्वामी से 17 का पहाड़ा पूछा गया एवं अंग्रेजी में एरोप्लेन एजुकेशन लिखने का कहा गया दोनो अतिथि शिक्षक ना ही लिख सके और ना ही 17 का पहाड़ा पढ़ सके इसी तरह से प्राथमिक पाठशाला ढेका के भी अतिथि शिक्षक सवाईलाल बसोर एवं राजेश कुमार साह भी उपरोक्त प्रश्नों का उत्तर नही दे सकेकलेक्टर द्वारा नाराजगी व्यक्त करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिया गया कि इन नमूनों को आज ही पद से पृथक करे।

पैदल चलकर किया निरीक्षण
कलेक्टर श्री चौधरी के द्वारा प्राथमिक पाठशाला करैल पगड़ंडी रास्ते से पैदल चलकर विद्यालय का निरीक्षण किए विद्यालय में पर्याप्त कमरे होने के बावजूद भी एक ही कक्ष में कक्षा 3, 4 एव 5वी के छात्रों को बैठाया गया था, जिस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए रामदयाल यादव प्रधान अध्यापक का दो वेतन वृद्धि रोकने का निर्देश दिए

बच्चों की भीड़ देख कलेक्टर ने रूककर ली जानकारी 
कलेक्टर जैसे ही रम्पा विद्यालय से आ रहे थे उन्हे रास्ते में छोटे छोटे बच्चों का काफिला दिखा कलेक्टर ने पहुचकर उन बच्चो से पूछे की कहां जा रहे हो? बच्चो के द्वारा बताया गया कि मॉ सरस्वती की प्रतिमा का विसर्जन करने मयार नदी जा रहे है, हम सभी बच्चे प्राथमिक पाठशाला असनी के है कलेक्टर अचंभित रह गए एवं रास्ते से ही बच्चो को वापस स्कूल भेजा तथा विद्यालय प्रधान अध्यपक श्री बुद्धमान सिंह को कड़ी फटकार लागाते हुए कहां कि इन बच्चों को नदी या तालाब में ले जाने हेतु किसकी अनुमति है? क्या इनके अभिभावक लोग अनुमति दिए है? प्रधान अध्यापक द्वारा कुछ नही बताया जा सका तब मौंके पर ही दो वेतन वृद्धि रोकने का निर्देश दिए तथा अतिथि शिक्षक नरेन्द्र नाथ गोस्वामी संतकुमार साह, का 4 दिन का वेतन काटने का निर्देश दिए इसी तरह से पूर्व माध्यमिक विद्यालय छतौली के भी छात्र सरस्वती प्रतिमा विसर्जन हेतु नदी जा रहे थे, उन्हे भी विद्यालय वापस भेजा गया तथा रामसागर साह प्रभारी प्रधान अध्यापक कैलश प्रसाद पड़रवार सहायक अध्यापक राजाराम साह सहायक अध्यापक का दो-दो वेतन वृद्धि रोकने का निर्देश दिए गए।

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc