खतरे से खाली नहीं है गाय पालना, मुस्लिम ने थाने ले जाकर बांध दी अपनी गाय


मेरठ शहर के नगर निगम पार्षद अब्दुल गफ्फार द्वारा कथित गौरक्षकों के हमलों के डर से गाय नौचंदी थाने ले जाने का मामला सामने आया है। पार्षद ने कहा कि उन्हें गाय पालने पर हिंदू संगठनों से जान का खतरा है, इसलिए वह गाय थाने लेकर आए हैं। पार्षद ने पुलिस को एक प्रार्थना-पत्र भी दिया है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि अपने रिश्तेदार से एक बछिया ली थी। उसे बड़े मन से पाला। लेकिन पता नहीं था कि एक मुस्लिम के लिए गाय पालना खतरनाक रूप से ले लेगा। 


पार्षद ने आगे लिखा कि वह आए दिन मीडिया में देखते हैं गाय पालने वालों पर हिंदू संगठन हमला कर रहे हैं। किसी दिन हिंदू संगठन के नेता उनपर भी हमला कर जान का खतरा पैदा कर सकते हैं। पत्र में आगे लिखा गया, ‘मैंने अपने रिश्तेदारों से गाय पालने के लिए कहा कि लेकिन सभी ने मना कर दिया। शायद वो भी मेरे घर से अपने घर गाय के जाने में खतरा समझ रहे हैं।’

वहीं स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार बीते मंगलवार (16 जनवरी, 2017) को गाय थाने लेकर पहुंचे पार्षद ने पुलिस से कहा कि उनकी गाय को थाने में ही बांध दिया जाए या पुलिस खुद गाय हिंदू संगठनों के हवाले कर दे। बाद में पुलिस ने गाय को अपने कब्जे में लेकर एक स्थानीय निवासी को दे दिया। इसके बाद गफ्फार ने मीडिया को बताया कि गाय पालने वालों पर गौ रक्षक हमला कर देते हैं। उन्होंने आगे बताया कि पिछले दिनों स्थानीय क्षेत्र में ऐसा ही मामला सामने आया था। गाय पालने के कारण शख्स पर हमला किया गया। इसलिए वह अब गाय पालना नहीं चाहते।

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc