सरकार बताये, किसानों का कितना खून उसे और चूसना है?





किसानों के नाम पर भाजपा नेताओं की विदेश यात्रा पर भड़की कांग्रेस

भोपाल। किसानों को उन्नत खेती के नये गुण सिखाने के नाम पर भाजपा नेताओं को सरकारी खर्च पर विदेश यात्राऐं कराये जाने को लेकर भड़की प्रदेश कांग्रेस ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि किसान पुत्र मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान बतायें, राज्य सरकार को अब किसानों का कितना खून और चूसना है। 

प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता के.के. मिश्रा ने कहा है कि प्रदेश के किसानों के साथ किसान विरोधी राज्य सरकार की शाब्दिक जुगाली परोसे गये झूठ और फरेब से बर्बाद किसानों को सरकार विभिन्न तरह की यातनाऐं पहले ही दे चुकी है। उनकी फसलों का उचित मूल्य प्राप्त न होना, कर्ज बोझ, नकली और घटिया खाद-बीज, अपर्याप्त बिजली-पानी, तुलाई, समर्थन मूल्य न मिल पाना, बोनस की राशि समाप्त कर देना, फसल बीमा का भुगतान न होना, भावांतर योजना में हो रहा भ्रष्टाचार, अपर्याप्त भंडारण, ओला, तुषार, पाला, अल्प-अतिवृष्टि आदि से परेशान किसान जहां पहले से ही जर्जर हो चुका है, उसने कई हजारों की संख्या में आत्महत्या जैसा अप्रिय कदम भी उठाया है। यह सब जानते हुए भी सरकार किसानों के नाम पर भाजपाई विचारधारा से प्रतिबद्ध नेताओं को किसानों के कल्याण के मद से विदेश भेजकर उनका और कितना खून चूसना चाहती है?

श्री मिश्रा ने कहा कि इसके पहले भी उद्यानिकी राज्य मंत्री सूर्यप्रकाश मीणा के पुत्र उन्नत उद्यानिकी के नाम पर विदेश घूम आये हैं, जो किसान अपने ही प्रदेश में सरकार की किसान विरोधी नीति, बुनियादी सुविधाओं के अभाव और कर्ज बोझ के कारण सामान्य खेती ही नहीं कर पा रहे हैं, उनके नाम का उपयोग कर वास्तविक किसानों को धोखा देकर  आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, ब्राजील, अर्जेटीना, फ्रांस और तेलअवीव जाने वाले भाजपा नेता, किसानों को कौन सी और कैसी उन्नत खेती का पाठ पढ़ायेंगे?


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc