'जनता ही मेरी भगवान, सेवा ही मेरा सबसे बड़ा धर्म' गणतंत्र दिवस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान








"हम उन किसानों के लिए समाधान योजना ला रहे हैं, जिन्हें डिफॉल्टर होने के चलते कर्ज नहीं मिल रहा हैं. उनका बकाया ब्याज सरकार भरेगी और किसान किश्तों में राशि लौटा सकेंगे. इससे किसान को फिर से ऋण मिल सकेगा.''

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 69वें गणतंत्र दिवस पर गुना में ध्वजारोहण कर सभी वर्गो के विकास का संकल्प दोहराया. उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता ही उनकी भगवान है और जनता की सेवा ही भगवान की सेवा है. मुख्यमंत्री चौहान ने यहां लाल परेड मैदान में ध्वजारोहण किया. उन्होंने समारोह में मौजूद लोगों से कहा, "प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता उनकी भगवान है, उनकी सेवा कर ली मानो भगवान की सेवा कर ली. यही कारण है कि वह हर वर्ग के कल्याण के लिए योजनाएं बना रहे हैं. मैं प्रदेश का मुखिया जरूर हूं लेकिन सेवा मेरा धर्म है."


उन्होंने राज्य में बीते एक दशक में हुए विकास का जिक्र करते हुए कहा, "आज से एक दशक पहले मध्य प्रदेश की पहचान एक पिछड़े राज्य के रूप में होती थी. आज मुझे यह कहते हुए गर्व है कि हम सभी के प्रयासों से प्रदेश की औसत विकास दर देश की औसत विकास दर से आगे है. कृषि विकास दर में दुनिया में हम सबसे आगे हैं." उन्होंने कहा कि सरकार की योजनाओं के चलते युवाओं, किसान, महिलाओं की जिंदगी में बड़ा बदलाव आया है. यह क्रम आगे भी जारी रहेगा.

मुख्यमंत्री ने कहा,"कानून और व्यवस्था हमारी प्राथमिकता है. मध्य प्रदेश पुलिस निश्चित रूप से बहुत अच्छा कार्य कर रही है. 'सिमी' जैसे गिरोहों का नेटवर्क इन्होंने ध्वस्त किया. हमने पुलिस बल को बढ़ाने का फैसला किया है." उन्होंने प्रदेश के कर्मचारियों से आग्रह किया,"मैं कर्मचारियों के कल्याण की चिंता करूंगा और आप प्रदेश की चिंता करें. आप मध्य प्रदेश को आगे बढ़ाने के लिए समर्पित होकर कार्य करें. हम सब मिलकर अपने प्रदेश को सर्वश्रेष्ठ प्रदेश बनाएं."

राज्य में स्थापित किए गए आनंद विभाग का जिक्र करते हुए कहा,"हमने आनंद मंत्रालय की शुरुआत की. आपके जीवन में आनंद बना रहे, हम यह जिम्मेदारी भी निभा रहे हैं. आनंद केंद्रों में आप जाएं और अपनी अनुपयोगी वस्तु देने का सुख पाएं." चौहान ने एकात्म यात्रा की चर्चा करते हुए कहा कि हम सब में एक ही चेतना का वास है. कोई भेदभाव नहीं है. कोई छोटा-बड़ा नहीं है. सामाजिक समानता के इस संदेश को प्रसारित करने का कार्य एकात्म दर्शन के प्रणेता जगतगुरु आदि शंकराचार्य की ओंकारेश्वर पर्वत पर स्थापित प्रतिमा करेगी.

मुख्यमंत्री ने दोहराया कि महिला सशक्तीकरण हमारी प्राथमिकता है. मुझे गर्व है कि हमारी स्वसहायता की बहनें उत्कृष्ट कार्य कर रही हैं. बहनों द्वारा निर्मित सामानों का बाजार बढ़े इसलिए उनके सामानों की ब्रांडिंग सरकार करेगी. उन्होंने जिन किसानों को कर्ज नहीं मिल पा रहा हैं उनके लिए समाधान योजना की शुरुआत की बात कही. उन्होंने कहा, "हम उन किसानों के लिए समाधान योजना ला रहे हैं, जिन्हें डिफॉल्टर होने के चलते कर्ज नहीं मिल रहा हैं. उनका बकाया ब्याज सरकार भरेगी और किसान किश्तों में राशि लौटा सकेंगे. इससे किसान को फिर से ऋण मिल सकेगा.''


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc