जैविक खाद ने पलट दी गंगा की किस्मत




शाजापुर। ग्राम कचनारिया तहसील आगर के रहने वाले गंगासिंह की जैविक खाद ने किस्मत ही पलट कर रखा दी है। गंगासिंह आज आधुनिक तरीके से जैविक खेती कर अपनी लागत और मेहनत के अनुरूप लाभ प्राप्त कर रहे हैं। उन्नत कृषक गंगासिंह ने बताया कि वह पूर्व में अन्य किसानों की भांति कृषि कार्य करते चले आ रहे थे। जिससे लागत के अनुरूप लाभ प्राप्त नहीं हो रहा था। 

उन्होंने बताया इसी बीच तकनीकी सहायक आत्मा परियोजना श्री वेदप्रकाश सेन के सम्पर्क में आया। श्री सेन ने द्वारा कृषि विभाग की योजनाओं के बारे में बताया। साथ कृषि विभाग द्वारा आयोजित जैविक प्रशिक्षणों में भाग लिया। प्रशिक्षणों में जैविक खाद बनाने का तकनीकी ज्ञान प्राप्त किया। 

इसके बाद आत्मा परियोजनान्तर्गत वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण करवाकर, जैविक खाद का उत्पादन करना प्रारम्भ कर दिया। जैविक खाद बनाकर स्वयं की कृषि में उपयोग करने से एक ओर जहां कृषि लागत शून्य हो गई, वही दूसरी ओर अधिक फसल उत्पादित होने लगी। जिससे कृषि लाभ का धन्धा बनी। श्री गंगासिंह आज जैविक खाद तैयार कर स्वयं खेती में तो उपयोग करते है, साथ ही अन्य किसानों को भी जैविक खाद का विक्रय कर लाभ प्राप्त कर रहे हैं।
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc