मोदी के नाम से बनाया मोर्चा और IAS/IPS के ट्रांसफर कराने लगे, पकड़े गए



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से मोर्चा बनाकर जिलों, प्रदेश तथा राष्ट्रीय स्तर पर पदाधिकारी नियुक्त करने एवं IAS/IPS के ट्रांसफर कराने के नाम पर करोड़ों रुपये की वसूली करने वाले मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को आजमगढ़ पुलिस ने गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस को इसके पास से एक हजार से ज्यादा एप्लीकेशन भी बरामद हुई हैं। आरोपी एडीजी और आईएएस के स्थानांतरण तक की पैरवी करता था। पुलिस को इसने बताया कि पीएमओ में भी कुछ लोगों से उसका संपर्क है। लगभग चार माह पूर्व मोर्चा के राष्ट्रीय मंत्री सैयद काजी अरशद ने इनके खिलाफ करोड़ों की अवैध वसूली के मामले में शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था।

एसपी अजय साहनी ने बताया कि पकड़ा गया नरेंद्र मोदी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशीष सिंह काफी शातिर है। इसके  पीएमओ में संपर्क होने के जानकारी मिली है। इसके साथ ही कई आईएएस अधिकारियों के इसके संपर्क में होने की बातें भी सामने आ रही हैं।

बरामद दस्तावेजों और पूछताछ में पता चला है कि ये एडीजी और आईएएस अधिकारियों के तबादले की भी पैरवी करता था। आजमगढ़ के एसपी सिटी सुभाष चंद्र गंगवार के तबादले के लिए भी वो पैरवी करने का दावा कर रहा था। स्थानांतरण के बदले इसकी वसूली चलती थी।

नरेंद्र मोदी मोर्चा का गठन कुछ माह पूर्व ही गाजियाबाद निवासी आशीष सिंह राजपूत ने किया था। इस संगठन का पूरे प्रदेश में विस्तार करते हुए जिलास्तर पर संगठन खड़ा कर लिया गया था। आशीष सिंह राजपूत इस संगठन का राष्ट्रीय अध्यक्ष था और आजमगढ़ जिले के रहने वाले सैयद काजी अरशद को पहले प्रदेश अध्यक्ष बताया। 

कुछ दिनों बाद ही उनके पद को बढ़ा कर राष्ट्रीय मंत्री बना दिया। अरशद के शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराने पर शुरू में तो सत्ताधारी दल से जुड़े संगठन का मामला होने के चलते पुलिस ने कोई कवायद नहीं की और मामले को ठंडे बस्ते में डाले रखा।

लेकिन जब संगठन के फर्जी होने और उसका सत्ताधारी दल भाजपा से कोई संबंध नहीं होने की पुष्टि हुई तो शहर कोतवाली पुलिस सक्रिय हो गई। शहर कोतवाली की टीम कुछ दिनों पूर्व ही गाजियाबाद गई और आशीष सिंह की तलाश में जुट गई। सोमवार को शहर कोतवाली की टीम गाजियाबाद पुलिस की मदद से उसे गिरफ्तार कर लिया।  शहर कोतवाली में देर रात तक उससे पूछताछ जारी है।  

मामले में एसपी सिटी चंद्र गंगवारने कहा कि आशीष सिंह राजपूत के खिलाफ शहर कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत था। इसमें वादी मुकदमा सैयद काजी अरशद ने फर्जी मोर्चा बना कर व संगठन में पद देने का प्रलोभन देकर करोड़ों की हेराफेरी करने का आरोप लगाया था।

तहरीर के आधार पर गाजियाबाद टीम भेज कर आशीष सिंह को गिरफ्तार किया गया है। इसके पूरे फर्जीवाड़े की अभी जांच पड़ताल चल रही है। जल्द ही पूरे मामले का खुलासा पुलिस कर देगी।


साभार- अमर उजाला
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc