मंदसौर जैसे हालात की राह पर गाडरवारा



भोपाल। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि नरसिंहपुर जिले के गाडरवारा में किसानों के बीच व्याप्त आक्रोश को देखते हुए मंदसौर जैसे हालात पैदा होने की आशंका है। श्री सिंह ने कहा है कि एन.टी.पी.सी. की वादा खिलाफी को लेकर पिछले 15 दिन से किसान आंदोलित हैं, लेकिन किसान पुत्र मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एकात्म और चुनावी यात्रा में व्यस्त हैं। सिंह ने प्रधानमंत्री, केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री और मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर तत्काल इस मामले में हस्तक्षेप कर किसानों को न्याय दिलाने की मांग की है।

नेता प्रतिपक्ष ने पत्र में लिखा है कि नरसिंहपुर जिले के गाडरवारा में 3200 मेगावाट क्षमता का नेशनल थर्मल पावर प्लांट, के लिए किसानों की सैकड़ों एकड़ जमीन अधिग्रहित की गई थी। उन्हें पर्याप्त कीमत देने का वादा किया था। जिसके अनुसार 18 लाख रूपये प्रति एकड़ के मान से कीमत देने और अगले तीस साल तक तीस हजार रूपये प्रति एकड़ सालाना बोनस देने का अनुबंध किया था। इसके साथ ही प्लांट में किसान के परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का भी वादा किया था, लेकिन एन.टी.पी.सी. ने किसानों को धोखा दिया। सिंह ने चेंताया की इस वादाखिलाफी से किसानों में जिस तरह से आक्रोश बढ़ रहा है, इससे वहां पर मंदसौर जिले के हाटपिपल्या जैसे हालात पैदा हो सकते हैं।

श्री सिंह ने कहा कि एनटीपीसी के प्लांट को बनते हुए लगभग 3 साल हो चुके हैं लेकिन उनके द्वारा किए गए किसी भी वादे का पालन नहीं किया गया। इसके कारण क्षेत्र के सैकड़ों किसान अपने को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं और आर्थिक तंगी के चलते हुए उनके सामने जीवन जीने का संकट पैदा हो गया है। किसान बेहद आक्रोशित है और न्याय पाने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं।

श्री सिंह ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि आप सदैव किसानों का सच्चा हितैषी होने का दावा करते हैं, किसान पुत्र मुख्यमंत्री कहलाने में भी गर्व महसूस करते हैं, लेकिन इस मामले में आपकी चुप्पी बता रही है कि आपको संकट में पड़े इन किसानों की कोई चिंता नहीं है।

श्री सिंह ने कहा कि ऐसा लगता है कि आप आंदोलनरत किसानों को इस प्रदेश का किसान मान ही नहीं रहे हैं। श्री सिंह ने कहा स्थिति विस्फोटक हो, कोई गंभीर हादसा न हो, इसलिए प्रदेश के किसानों के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ आप एनटीपीसी पर दबाव डालें कि वह किसानों के साथ किए गए वायदों को पूरा करे और इसके साथ ही केन्द्र सरकार को इस मामले में हस्तक्षेप कर किसानों को न्याय दिलाने के लिए कहें।
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc