बेटा हो या बेटी किसी भी स्तर पर शोषण, अनदेखी नहीं हो


मुरैना। महिला सुरक्षा के प्रति सामाजिक चेतना के लिए राष्ट्रीय बालिका दिवस 24 फरवरी से अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च तक महिलाओं के सशक्तिकरण पर विभिन्न आयोजनों के तहत यहाँ टाउनहॉल में कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में चंबल संभाग के कमिश्नर डॉ. एम.के.अग्रवाल के मुख्य आतिथ्य में महिला सशक्तिकरण बेटी बचाओं बेटी पढाओं पर विभिन्न रोचक एवं आकर्षक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गए। कमिश्नर डॉ. अग्रवाल ने मौके पर ब्राण्ड एम्बेसडर कु. अद्रिका गोयल का सम्मान किया गया।

जिला महिला सशक्तिकरण ताइक्वाण्डो एसोसिएशन के बच्चों ने ताइक्वाडों पर विभिन्न रोचक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। बेटी बचाओं पर एक लघु नाटक की रोचक प्रस्तुती भी दी गई। ब्रााण्ड एम्बेस्डर कु. अद्रिका गोयल ने बेटियों को सशक्त बनाने, बेटी बेटों में फर्क नहीं करने, गरीब बेटियों को पढाने में मदद करने तथा बेटियों को आगे बढने में किसी भी तरह की रूकावट पैदा न करने का आव्हान किया। कु. हर्षिता कुलश्रेष्ठ ने बेटियों को हर तरह से सपोट करने पर जोर देते हुए एक कविता की प्रस्तुती दी। 

कार्यक्रम को बाल आयोग मित्र मुरैना के दिलीप शर्मा बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष अमित जैन ने भी संबोधित करते हुए लड़कियों में आत्म-रक्षा के गुण होने पर जोर दिया। उन्होने कहा कि बच्चों का किसी भी स्तर पर शोषण एवं अनदेखा नहीं होना चाहिए।

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc