शौचमुक्त की हवाबाजी की गई, हकीकत में हो रही है अभियान की ऐसी तैसी


पीएम मोदी के महत्वांकाक्षी प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत अभियान के तहत शौचमुक्त होने की विज्ञापनबाजी की गई, लेकिन आज भी मुंबई की कई सड़कों, रेल की पटरियों के किनारे खुले में स्वच्छता अभियान की ऐसी की तैसी हो रही है. यह बात महाराष्ट्र सरकार में भाजपा की सहयोगी पार्टी शिवसेना के मुखपत्र सामना में कही गई है. 

पीएम मोदी के महत्वांकाक्षी प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत अभियान पर तंज कसते हुए सामना में कहा गया है कि इस अभियान में खर्च किए गए पैसे बर्बाद हुए हैं. इसके बदले अगर नेशनल हाईवे पर शौचालय बनाए गए होते तो मंत्रीजी को खुलेआम लघुशंका नहीं करनी पड़ती. 

पार्टी के मुखपत्र सामना के संपादकीय में शिवसेना ने लिखा है कि स्वच्छ भारत अभियान पर सैकड़ों करोड़ रुपए सरकारी तिजोरी से खर्च हुए, वो सब बर्बाद हो गए. उस पैसे से महाराष्ट्र में कम से कम दो हजार शौचालय राष्ट्रीय महामार्ग और अन्य स्थानों पर बनाए गए होते तो राम शिंदे जैसे राज्य के नेता को लघुशंका को लेकर परेशानी न होती.
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc