पंचायती राज व्यवस्था के महत्वपूर्ण तथ्य






- 26 जनवरी 2001 से ग्राम स्वराज योजना लागू की गई।
- चुनाव संबंधी कार्यों के लिए 19 जनवरी 1994 को मध्य प्रदेश निर्वाचन आयोग का गठन किया गया। जो इन तीनों स्तरों के चुनाव का कार्य करवाता है।
- मध्य प्रदेश निर्वाचन आयोग के प्रथम अध्यक्ष एमबी लौहानी थे।
- मध्य प्रदेश निर्वाचन आयोग के वर्तमान अध्यक्ष आर. परशुराम हैं।
- मध्य प्रदेश निर्वाचन आयोग के वर्तमान सचिव सुनीता त्रिपाठी हैं।
- पंचायतों को राज्य शासन से वित्त उपलब्ध करानें के लिए मध्यप्रदेश वित्त आयोग का गठन प्रत्येक 5 वर्ष के अंतराल पर किया जाता है।
- मध्यप्रदेश सरकार के वित्त विभाग ने पांचवें राज्य वित्त आयोग का गठन 2017 में किया है। 
- आयोग के अध्यक्ष के तौर पर वरिष्ठ भाजपा नेता और पूर्व गृहमंत्री हिम्मत कोठारी को अध्यक्ष और मिलिंद वाईकर को सदस्य सचिव की भूमिका दी गई है।
- मध्य प्रदेश पंचायती राज अधिनियम के अंतर्गत मध्य प्रदेश में प्रथम चुनाव मार्च-अप्रैल 1994 में हुए थे।
- तीनों स्तरों पर एससी, एसटी, ओबीसी और महिलाओं के लिए आरक्षण की भी व्यवस्था की गई है।
- 73वां संविधान संशोधन लागू करने वाला मप्र प्रथम राज्य था।
- 1907 में सर्वप्रथम दतिया में नगरपालिका का गठन किया गया था। 
- 1929 में इंदौर, ग्वालियर एवं नरसिंहगढ़ में पंचायतें स्थापित की गई।
- 25 जनवरी को प्रतिदिन मतदाता दिवस मनाया जाता है।
- पंचायती राज में 29 विषय सम्मलित हैं।
जयशंकर सिंह 

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc