मारिया को मारने वाले ने कहा 'ईश्वर की प्रेरणा के बिना एक पत्ता भी नहीं हिलता'


इंदौर. सिस्टर मारिया की ह्त्या के लिए 20 साल की सजा पाने वाले समंदर सिंह ने कहा है कि  'ईश्वर की प्रेरणा के बिना संसार में एक पत्ता भी नहीं हिलता'. 
यहाँ सेंट पॉल स्कूल में आयोजित ईसाई समुदाय के एक कार्यक्रम में पॉप फ्रांसिस द्वारा नियुक्त वेटिकन सिटी के प्रतिनिधि सहित देश विदेश से पहुंचे ईसाई समुदाय के लोगों के बीच सिस्टर मारिया को मारने वाले समंदर सिंह ने कहा कि उस समय मेरे सर पर कोई शैतान हावी हो गया था, जो मैंने यह कृत्य किया. 
सिस्टर मारिया देवास के उदयनगर में सेवा गतिविधियों में जुडी थी. समंदर सिंह ने 25 फरवरी 1995 को उनकी चाकू से कई वार कर हत्या कर दी थी. वह मध्यप्रदेश के देवास जिले के उदय नगर में आदिवासियों, गरीबों और भूमिहीन कृषि मजदूरों के हितों के लिए काम कर रही थीं. गरीबों को सूदखोरों के चंगुल से छुड़ाने के लिए सिस्टर रानी मारिया के सेवा कार्यों से कुछ धनी और ताकतवर लोग नाराज थे और माना जाता है कि इसी नाराजगी के चलते भाड़े के हत्यारे के जरिये उनकी साजिशन हत्या करा दी गई. 
आज कार्यक्रम में समंदर सिंह भी उपस्थित था. सिस्टर मारिया की बहन सेल्मी पॉल ने उसे माफ़ कर दिया है और राखी बाँध कर भाई बना लिया है. समंदर सिंह का कहना है कि ईसाई धर्म और उसके लोगों के प्रेम ने मेरे जीवन को बदल दिया है. समंदर सिंह वर्ष 2006 में जेल से छूटा था. इसके बाद से पूर्व में वह कई बार अपने किए पर पछतावे का इजहार कर चुका है.
कार्यक्रम में सिस्टर मारिया को धन्य घोषित किया गया.

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc