न्याय में देरी पर भोपाल की भरी अदालत में महिला ने फोड़ा बम


भोपाल. अदालतों में न्याय में देरी कोई नई बात नहीं है. लाखों जिंदगियां कोर्ट के चक्कर काटते काटते ही ख़त्म हो जाती हैं. न्याय में देरी निश्चित रूप से अन्याय ही है. इसी अन्याय की शिकार एक महिला ने कल गुरूवार को भोपाल जिला न्यायालय में बम फोड़कर अपना आक्रोश व्यक्त किया. 
भोपाल जिला न्यायालय  के पहले माले पर मजिस्ट्रेट नौशीन खान की कोर्ट के सामने कल जैसे ही महिला ने बम फोड़ा जिला न्यायालय में अफरातफरी मच गई. अदालत में मौजूद वकीलों और अन्य उपस्थित पुलिस कर्मियों ने महिला को घेर कर पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया, लेकिन वह एक बड़ा सवाल छोड़ गई है. आखिर उसने ऐसा क्यों किया? 
असल में महिला जौहर बाई पिछले 30 साल से लंबित प्रकरण में अदालत के चक्कर लगाते लगाते परेशान हो चुकी थी. उसका कहना रहा 'मेरा प्रकरण 30 साल से चल रहा है. मुझे न्याय नहीं मिल रहा मैं तो बम फोडूंगी ही.'
जिला अदालत बार एसोशियेशन ने पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के लिए मांग की है, जो होना चाहिए. महिला का कदम उचित नहीं कहा जा सकता, लेकिन न्याय में देरी न हो, इस पर भी सोचा जाना चाहिए.
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc