बाल आयोग ने थमाया एसपी भोपाल को नोटिस, 3 दिन में करें कार्यवाही


भोपाल. राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य प्रियंक कानूनगो ने 12 साल की बच्ची से बलात्कार केस दर्ज किये बगैर जबलपुर भेजने की तैयारी में जुटी पुलिस से सम्बंधित समाचार को लेकर पुलिस अधीक्षक भोपाल को नोटिस जारी कर दोषियों के विरुद्ध ठोस कार्यवाही कर 3 दिन में रिपोर्ट देने के लिए लिखा है.
सम्बंधित समाचार की दैनिक भास्कर पेपर की कटिंग नितिन सक्सेना द्वारा राष्ट्रीय बाल आयोग को पोस्ट कर उचित कार्यवाही के लिए लिखा गया था. विषय पर संवेदनशीलता दिखाते हुए राष्ट्रीय बाल आयोग के सदस्य प्रियंक कानूनगो ने अपने विभाग से तुरंत कार्यवाही करते हुए सम्बंधित अधिकारियों को नोटिस जारी किया है.
नितिन सक्सेना का कहना है कि 'हंगामा खड़ा करना मकसद नहीं, सारी कोशिश है कि ये सूरत बदलनी चाहिए'.
उल्लेखनीय है कि भोपाल गैंगरेप के मामले से शर्मशार हुआ और उससे अभी उबरा ही नहीं था कि हाल में एक और बड़ी शर्मनाक घटना भोपाल रेलवे स्टेशन पर घटित हो गयी. दुष्कर्म की शिकार 12 साल की मासूम के मामले में पुलिस का बेहद घटिया कार्य रहा, जिसकी सब ओर निंदा की जा रही है और सरकार कोचिंग सेंटर रात 8 बजे के पहले बंद करने के निर्देश देकर हाथ पर हाथ धरे बैठी है. 
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc