नहीं हो सका भाजपा का मंगल, यू टर्न से जोरदार झटका

सुबह भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहा से माला पहनी 

शाम को वापिस अपने घर नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के साथ 

भोपाल। सुबह का भूला शाम को घर आ जाए तो उसे भूला नहीं कहते आज ये कहावत सच साबित हो गई। सुबह भाजपा का दामन थामने वाले स्व. प्रेम सिंह के भतीजे ने शाम होते ही कांग्रेस में घर वापसी कर ली है।
चित्रकूट उपचुनाव अपने रंग पर आ चुका है। तेजी से राजनैतिक समीकरण बदल रहे हैं। इसकी बानगी आज देखने को मिली, जब सुबह भाजपा में शामिल हुए स्वर्गीय प्रेम सिंह के भतीजे मंगल सिंह ने शाम को कांग्रेस की ही शरण लेकर न केवल भाजपा को बैकफुट पर लाकर खड़ा कर दिया बल्कि कांग्रेस के गढ़ में सेंध लगाने में कुछ हद तक सफल रही भाजपा को अचानक हुए इस घटनाक्रम ने जोरदार झटका दिया है, आखिर रणनीति कैसे फैल हुई अब इस पर मंथन जारी रहेगा। फिलहाल एक भूला शाम को वापस घर लौट आया इससे कांग्रेस गदगद हो गई है।मंगल ने नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के पास जाकर सफाई दी है। कहा गया है मंगल कांग्रेस का था, कांग्रेस का है, कांग्रेस का रहेगा 
गौरतलब है कि मंगल सिंह कांग्रेस द्वारा चित्रकूट उपचुनाव में टिकट नहीं मिलने से नाराज थे। दोपहर में उन्हें भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने बीजेपी में शामिल करवाया था। लेकिन शाम होती ही स्थानीय राजनीति में बड़ा बदलाव हुआ और मंगल सिंह ने यू टर्न लिया। और कांग्रेस में वापसी करते हुए कहा कि हमारे प्राण चले जाएं, लेकिन हम कांग्रेस के रहेंगे।

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc