अब कुत्ते, बिल्ली पर भी देना होगा टैक्स, फैसले की सब ओर निंदा

पंजाब में अब लोगों को कुत्ते, बिल्ली समेत पालतू जानवरों को रखने पर टैक्स देना होगा. पंजाब के स्थानीय निकाय विभाग ने अब जाकर जानवरों पर टैक्स मांग लिया है. निकाय द्वारा एक नोटिफिकेशन जारी कर पालतू जानवरों को रखने के एवज में लोगों से टैक्स मांगने की बात कही गई है. कुत्ता, बिल्ली, सूअर, बकरी, बछड़ा, भेड़, हिरण आदि पालने वाले लोगों को 250 रुपये प्रति वर्ष देने पड़ेंगे.
नोटिस में बताया गया है कि भैंस, सांड, ऊंट, घोड़ा, गाय, हाथी और नील गाय आदि पालने वाले लोगों से 500 रुपये प्रति वर्ष वसूल किए जाएंगे. सरकार की ओर से कहा गया है कि हरेक पालतू जानवर का ब्रांडिंग कोड और पहचान नंबर दिए जाएंगे. और जानवरों को माइक्रो चिप लगाया जा सकता है. योजना के अनुसार पालतू जानवरों के लाइसेंस बनाए जाएंगे, जिसको सालाना रिन्यू करवाना जरूरी होगा।
गांव में खेतीहीन या सीमांत किसान दो-तीन गाय या भैंसों के सहारे अपने परिवार का पालन करता है. दूध-कंडा बेचकर आजीविका जुटाता है. पंजाब सरकार ने इस बेहुदे नोटिफिकेशन से इस गरीब की कमर ही तोड़ कर रख दी है. अब स्वाभाविक है कि लोग इस फैसले के खिलाफ बात करेंगे, गरीब के पक्ष में आवाज बुलंद करेंगे, आप उन्हें वामपंथी कह सकते हैं, पर बात यह है कि मौका किसने दिया. उम्मीद की जाती है कि ज्यादा माहौल खराब हो, के पहले पंजाब सरकार अपने इस फैसले को वापिस ले लेगी.
टैक्स न भरने पर दस गुना तक दंड देना होगा, जो पांच हजार वार्षिक तक हो सकता है. इस प्रकार के टैक्स मुगल शासन में लगते थे. खिलजी और बलवन सहित अन्य मुगल शासकों ने इस प्रकार के टैक्स लगाए थे. कुछ परिवारों का भरण-पोषण पशु पालन के सहारे ही चलता है, जो गांव से ताल्लुकात रखते हैं, वह इसको आसानी समझ सकते हैं. फैसले की सब ओर निंदा की जा रही है.
सच कहें तो यह एक बहुत बड़ा मामला है, जो गांव-किसान, मजदूर को जानता है वो ही इसकी गंभीरता को समझ सकता है. वैसे ही पशुपालन में बहुत मुश्किलें हैं ऐसे में ये कितना सही होगा, सोचने का विषय है. एसी में बैठकर, टीवी स्टूडियो की राजनीति करने वाले इस मुद्दे को कभी नहीं समझ सकते.
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc