नगाड़ा बजाकर करते हैं खुले में शौच जाने वालों को शर्मिंदा

मार्निंग फॉलोअप
देवास में जिले को खुले में शौच से मुक्त बनाने के लिए यहाँ अभिनव प्रयास किये जा रहे हैं। बाकायदा प्रशिक्षण देकर इसके लिए दल बनाए गए हैं। ये दल विभिन्न जनपदों में पदस्थ शासकीय अमले के साथ अल सुबह गांव में पहुंचते हैं और गांव में ढोल-नगाड़ा बजाकर भी खुले में शौच जाने वालों को शर्मिंदा किया जाता है।
यहाँ पर कलेक्टर आशीष सिंह के निर्देश पर मार्निंग फॉलोअप कार्यक्रम चलाया जा रहा है, जिसमें सरकारी अधिकारी और अन्य कर्मचारी सुबह 5:00 बजे से गांव में पहुंच जाते हैं। गांव में बच्चों को इकट्ठा करके उन्हें व्हिसल भी दी जाती है। गांव में बाहर खुले में शौच जाने वाले को बच्चे व्हिसल बजाकर सचेत करते हैं। अधिकारी-कर्मचारी ऐसे ग्रामीणों को समझाइश देते हैं कि खुले में शौच जाने से कितने नुकसान हैं। वे उन्हें घर में ही शौचालय बनाने की योजना की जानकारी भी देते हैं। अनेक गांव में ढोल-नगाड़ा बजाकर भी खुले में शौच जाने वालों को शर्मिंदा किया जाता है। अनेक गांव में सरकारी अधिकारी-कर्मचारी और जनप्रतिनिधि खुले में हुए शौच पर मिट्टी डालकर उसे ढकते भी हैं। इनसे व्यापक रूप से जन जागरूकता निर्मित होती है।
गांव में निगरानी समितियां बनाई जा रही है और वानर सेना का गठन किया जा रहा है। अनेक ग्रामों में अधिकारियों ने सुबह-सुबह जाकर खुले में शौच के लिए जा रहे ग्रामीणों को घर में ही शौचालय बनाने और उपयोग करने की समझाइश दी। कलेक्टर आशीष सिंह के निर्देशानुसार यह अभियान अब और तेजी से सघन रूप से चलाया जाएगा। इसके अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc