जग्गा के सामने घण्टा चोरी हो गया




समीक्षक : इदरिस खत्री
इंदौरी फ़िल्म घण्टा चोरी हो गया सिनेमाघरों में जग्गा के सामने रिलीज हुई है. फ़िल्म राघवेंद्र तिवारी की कहानी पर आसिफ काजी के सम्वादों से सजी है. फिल्म में मुंबई ओर इंदौरी कलाकारों को एक साथ देखने का मौका मिलेगा.
फिल्म की कहानी में एक गाव में 2 सौतेले ठाकुर भाई, दोनो की अनबन, एक अच्छा (निमय बाली), एक बुरा (शाहबाज खान) टसल चलती रहती थी कि मंदिर में पुश्तेनी चांदी का घण्टा चोरी हो जाता है ओर एक हत्या हो जाती है 
पंडित (राघवेंद्र तिवारी) बड़े ठाकुर से मिलकर पोलिस इंस्पेक्टर ( विक्रम गुर्जर) से चोर का पता लगाने घण्टा खोजना शुरू करते है और कहानी अलग अलग मोड़ लेती हुई सत्य की जीत पर पहुचती है. अभिनय शाहबाज, निमय सहजता से अभिनय करते है. नीरज पंडित क्रूर ठाकुर के बेटे बने है जो कि पिता के पदचिन्हों पर नज़र आए, उन्हें अभिनय में केवल वीभत्स, रौद्र से बाहर आ कर किरदार को पकड़ने की ज़रूरत है. 
राघवेंद्र, कुणाल ,छाया सोनी,  विक्रम गुर्जर, गौरव साध, प्रियंका दुबे, अब्दुल गफ्फार, हर्षल, आशीष, तरुणा, वकार खान काम को बखूबी निभा गए.फ़िल्म में पकड़ बनाने की कोशिश की निर्भय ने ओर कुछ हद तक सीमित संसाधनों के साथ कामयाब भी हुवे है. वसीम अब्बास ने कैमरा वर्क बखूबी निभाया, वसीम का लगातार लगे हुवे है कई वृत्तचित्र, फिल्मो का काम कर चुके है. 
इंदौरी फ़िल्म होने के नाते खास इसरार पर फ़िल्म देखने पहुचा था. 
लेकिन इस फ़िल्म को इंदौरी मान कर देखा जाए तो लाजवाब काम है. 
क्योकि इंदौर के पास कोई दूसरी क्षेत्रीय भाषा नही है इसलिये यहां की फ़िल्म मुंबई फिल्मो में शुमार होती है| इंदौर के सीमित संसाधनों से मुझसे ज्यादा परिचित शायद ही कोई और हो. 
इस एतबार से मुम्बइया कलाकारों के तड़के में इंदौरी कलाकारो का तालमेल निश्चित ही इंदौरी सिनेमा को उचाईयो तक पहुचाएगा जिसमे अँगूरी बनी अंगारा, तेरे मेरे संस्कार, सिक्सX, आने वाली फिल्में अबाउट मी, अभिशप्त, संजना अन्य कतार में दिख रही है, जिससे न केवल इंदौर शहर के कलाकार खप जाएगे ओर आसपास के भी लगेंगे.
विक्रम सिंह गुर्जर निर्माता और निर्देशक निर्भय चौधरी को बधाईया की न केवल फ़िल्म बनाई उसे रिलीज तक भी लेकर पहुचे. संगीत आनन्द और निधि का है. गाने अच्छे बन पड़े हैं. कोरियोग्राफर विशाल बैस ने सीमित संसाधनों की कमी महसूस नही होने दी बखूबी गांनो को देखने काबिल बना दिया.
माना जा रहा है कि फ़िल्म को यू.पी., बिहार में रिलीज किया गया तो निश्चित ही लागत से ज्यादा पैसा निकाल देगी. 

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc