80 प्रतिशत शिकायतें राजनीति से प्रेरित होती हैं-आयुक्त विधायक जी ने गलत शिकायत तत्काल कर सिद्द भी कर दिया

उज्जैन से प्रशांत अन्जाना की कलम से 


विधायक जी ने शौचालय के अन्दर दुकान संचालित वाले 

इंटरनेट पर वायरल फोटो को अपने क्षेत्र का बताया 

उज्जैन जिला विकास समन्वय एवं मूल्यांकन समिति (दिशा) की पहली ही बैठक हंगामा की शिकार बन गयी निगम आयुक्त और सांसद विधायक जब एक दुसरे के सामने हो गए जनप्रतिनिधियों ने भ्रष्टाचार को लेकर सीधे सीधे निगम आयुक्त की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किये, तो निगम आयुक्त ने भी साफ़ साफ़ कह दिया कि लिखित शिकायत करो, कौन भर्ष्टाचार कर रहा है एक घंटे में एफ आई आर करा देंगे 
जिला विकास समन्वय एवं मूल्यांकन समिति (दिशा) की पहली बैठक सांसद डॉ. चिंतामणि, आल्वीय, विधायक डॉ. मोहन यादव, अनिल फिरोजिया सहित कलेक्टर निगम आयुक्त जिला पंचायत सीईओ की मौजूदगी में संपन्न हुई 
गरमा गरमी का माहौल तब बना जब नगर निगम व नगर पालिका क्षेत्र में बात स्वच्छ्ता को लेकर चल रही थी। इसी दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना को लेकर बात शुरू हो गयी और इसे लेकर सांसद और विधायक ने आरोप लगाया कि आवास पट्टा बनाने में 10- 10 हजार की रिश्वत ली जा रही है इस पर निगम आयुक्त ने पलट कर जबाब दिया कि नाम बताएं 80 प्रतिशत शिकायतें राजनीति से प्रेरित होती हैं आप लिखित में शिकायत कीजिये, तत्काल कार्यवाही होगी इस पर दोनों जनप्रतिनिधियों ने आपति ली और कहा कि आपको भी जब पता है तो कार्यवाही क्यों नहीं करते? और माहौल गर्म हो गया 
निगम आयुक्त ने यह कहा ही था कि 80 प्रतिशत शिकायतें राजनीति से प्रेरित होती हैं कि मीटिंग में ही तराना विधायक ने यह सिद्द भी कर दिया हुआ यह कि शौचालय पर चर्चा के समय तराना विधायक अनिल फिरोजिया ने अपने मोबाइल पर एक फोटो निगम आयुक्त और जिला पंचायत सीईओ को दिखाते हुए बताया कि उनके क्षेत्र में शौचालय के अन्दर दूकान संचालित हो रही है इस प्रकार की जनप्रतिनिधियों की गलत शिकायत की बात तत्काल ही सामने आ गयी निगम आयुक्त और जिला पंचायत सीईओ ने शिकायत को गलत बताते हुए बताया कि इस प्रकार का यह फोटो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है और यह तराना का नहीं है तब फिर विधायक को कुछ नहीं सूझा और अगल बगल झांकने लगे 
साफ़ सफाई पर बात पर कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे ने कहा है कि अगर 1 दिसंबर से कहीं भी कोई कचरा दिखाई दे तो बताएं, सम्बंधित अधिकारी के खिलाफ एफआईआर करा दी जायेगी उन्होंने बताया है कि सफाई के प्रति प्रशासन पूरी तरह गंभीर हैं 
सांसद विधायक के आरोपों के बाबजूद बाद में निगम आयुक्त आशीष सिंह ने ही जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित करते हुए कि आप सुबह एक घंटे का समय निकालें, जहाँ जहाँ शिकायतें मिल रही हैं, हम वहां साथ चलते हैं और तत्काल निराकरण करेंगे, मामला ठंडा कर दिया 
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc