कलेक्टर हो तो ऐसा, इंदौर कलेक्टर पी नरहरि ने दिलाया पिता को 10 हजार का महीना




 "अपने माता पिता का सम्मान एवं देखरेख करना 
हर व्यक्ति का कर्तव्य है" - कलेक्टर श्री पी नरहरि 


इंदौर कल जनसुनवाई में एक बुजुर्ग पिता को कलेक्टर श्री पी नरहरि ने जो न्याय दिलाया, उसकी शहर भर में चर्चा है कहा जा रहा है कलेक्टर हो तो ऐसा 
हुआ यहाँ कि कल जनसुनवाई में कानपुर के रहने वाले बुजुर्ग श्री हरवंश सिंह सोनी अपनी आँखों में आंसू लिए पहुंचे और बोले कि सर मेरा बीटा आर आर कैंट में सहायक वैज्ञानिक है, उसे 70000 का महीना मिलता है, लेकिन वह मुझे गुजारे के लिए कुछ भी नहीं देता 
इतना सुनना था कि कलेक्टर श्री पी नरहरि ने वैज्ञानिक बेटे आर एस सोनी को जनसुनवाई में ही बुलवाया और माता-पिटा को अपने वेतन में से 10000 रुपये मासिक देने के लिए कहा वैज्ञानिक बेटे द्वारा आनाकानी करता देख उन्होंने एसडीएम श्री संदीप सोनी को कार्यवाही के आदेश दिए, जिसके तहत एसडीएम श्री सोनी ने वैज्ञानिक बेटे के खाते से प्रतिमाह 10000 रुपये काटकर माता-पिटा के खाते में डालने के आदेश कर दिए 
पूर्व में भी कलेक्टर श्री पी नरहरि एक बिल्डर से एक सैनिक को प्लाट न देने पर ब्याज सहित 5.30 लाख दिलाये थे 


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc